Monitor kitne prakar ke hote hain | मॉनिटर के प्रकार

 Monitor kitne prakar ke hote hain | मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं

Monitor kitne prakar ke hote hain

Hello everyone उम्मीद करता हूँ हमेशा की तरह आप सब बिल्कुल अच्छे होंगे,आज हम बात करने वाले हैं computer monitor kitne prakar ke hote hain इसके लिए आप पोस्ट पर लास्ट तक बने रहें,क्यू की इस आर्टिकल में हम हम जानेंगे monitor kitne type ke hote hai तो चलिए अब हम जान लेते हैं,दोस्तों आज के टाइम में कंप्यूटर की लोकप्रियता दिन पर दिन बढ़ते ही जा रही है,क्यू की ये ऑनलाइन डिजिटल का ज़माना है,आप सब भी कंप्यूटर का इस्तेमाल ज़रूर करते होंगे फिर वो चाहे ऑफिस का काम हो,बैंक का काम हो या ऑनलाइन फॉर्म आवेदन का काम हो,मॉनिटर कंप्यूटर का एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट पार्ट होता है,जो की एक output डिवाइस है,बिना मॉनिटर के कंप्यूटर चला पाना लगभग अभी के टाइम में तो नामुमकिन ही है,क्यू की कंप्यूटर के अंदर किसी भी फंक्शन को या एप्लीकेशन को मैनेज करने के लिए हमे मॉनिटर की ज़रूरत होती है।

आप खुद ही सोचिये जब कंप्यूटर में स्क्रीन यानि की मॉनिटर ही नही होगा तो आप कंप्यूटर को कैसे एक्सेस कर पाएंगे,क्यू की कोई भी ऑनलाइन या ऑफलाइन काम हो मॉनिटर में देख कर ही किया जाता है,अगर अपने पुराने ज़माने के कंप्यूटर को देखा होगा तो अपने ये भी देखा होगा की पहले के कंप्यूटर में जो मॉनिटर आता था वो छोटा और काफी मोटा हुआ करता था,जो की देखने में बिलकुल भी अच्छा नही लगता था,लेकिन समय के साथ-साथ मॉनिटर भी कई तरह से एडवांस रूप में आने लगे हैं,और साथ ही उनकी मोटाई भी बहुत कम कर दी गयी है,जो की देखने में काफी प्रोफेशनल लगता है,और दूसरी चीज डिस्प्ले की क्वालिटी में भी बहुत बदलाव हो चुका है,वहीँ पर जो पहले के मॉनिटर डिस्प्ले हुआ करते थे उनकी क्वालिटी कुछ खास नही हुआ करती थी।

 लेकिन अब के समय में जितने भी मॉनिटर बनाये जा रहे हैं सब की डिस्प्ले क्वालिटी पर भी विशेष ध्यान दे कर बनाया जा रहा है ताकी यूज़र्स एक्सपीरियंस को better बनाया जा सके।

माउस क्या है – ज़रूर पढ़ें

हैकिंग क्या है | हैकर कितने प्रकार के होते हैं? – ज़रूर पढ़ें

Monitor kitne prakar ke hote hai 

मुख्य रूप से कंप्यूटर मॉनिटर 4 प्रकार के होते हैं उन्ही के बारे में हम विस्तार से जानेंगे।

1- CRT Monitor

2- Flat Panel Monitor

3- LED Monitor

4- LCD Monitor

चलिये अब इनके बारे में भी जान लेते हैं।

1- CRT Monitor: इसका इस्तेमाल आज के टाइम में कोई नही करता शायद ही कोई ऐसा होगा जो इसका इस्तेमाल अभी भी करता होगा,ये मॉनिटर पुराने कंप्यूटर्स में लगा हुआ करता था,आपने पुराने ज़माने के कंप्यूटर्स में देखे होंगे उनका मॉनिटर कितना मोटा आता था,वही है CRT Monitor आज के टाइम में इनका इस्तेमाल करना किसी को पसंद नही आता क्यू की मार्किट में अच्छे-अच्छे डिजाईन के और स्लिम मॉनिटर आने लगे हैं,और साथ ही डिस्प्ले क्वालिटी भी बहुत अच्छी आने लगी है,और ये मॉनिटर काँच की पिक्चर ट्यूब से बने होते थे जो काफी हैवी हुआ करते थे,इसमें सच में कांच की एक वैक्यूम ट्यूब को लगाया जाता था और इस पर इलेक्ट्रॉन गन असेम्बली के ज़रिये इलेक्ट्रॉन्स बीम्स को छोड़ते हैं,इस ट्यूब की बीम जिस सतह से टकराती है उस पर फास्फोरस का लेप हुआ होता है,और गन से निकली हुई किरणें तीन रंगों की होती हैं वो रंग होता है RGB

R का मतलब होता है रेड G का मतलब होता है ग्रीन और B का मतलब होता है ब्लू,मॉनीटर पर हमें जितने भी कलर देखते हैं वह सब लाल,हरे और नीले रंगों का मिश्रण होता है,इसमें बिजली की खापत भी बहुत ज़्यादा होती है इसमें समय के साथ काफी सुधार भी किया गया है,बात करें अगर CRT के फुल फॉर्म की तो इसका फुल फॉर्म होता है Cathode-Ray Tube.

2- Flat Monitor Panel: ये एक ऐसी डिस्प्ले है जो की crt डिस्प्ले के मुकाबले बहुत कम वजन और बिजली की खपत भी कम होती है जो की crt के मुकाबले काफी हल्का होता है,तभी इसको crt से बेहतर मानी जाती है,इसका इस्तेमाल आज के टाइम में बहुत ज़्यादा हो रहा है,ये crt डिस्प्ले के मुकाबले काफी पतला होता है,जिसके कारण इसका वजन भी बहुत कम हो जाता है,इसमें जो मेन टेक्नोलॉजी इस्तेमाल की जाती है वो है LCD और LED का इस्तेमाल कर के इसको डेवेलप किया जाता है,इस टेक्नोलॉजी से बनी डिस्प्ले वजन कम करने के साथ-साथ बिजली की खपत भी बहुत कम कर देती है,फ्लैट मॉनिटर पैनल 2 प्रकार के होते हैं, एक तो Non-Emissive Display और दूसरा Emissive Display और इस पैनल की resolution high होने के कारण डिस्पले पर अच्छी क्वालिटी की इमेज बनती है,और यह डिस्प्ले ब्राइटनेस भी काफी अच्छी प्रोवाइड करती है,और सबसे बड़ी खासियत ये है की इस डिस्प्ले में झिलमिलाहट नही होती।

3- LED Monitor: ये मॉनिटर हाई कॉन्ट्रस्ट वाली इमेज को प्रोड्यूस करती है,और चलते समय हीट भी नही होती साथ ही इसमें पावर का भी इस्तेमाल बहुत कम होता है,हाँ ये थोड़ा महेंगे ज़रूर हैं लेकिन इसका परफॉरमेंस बहुत ही जबरजस्त होता है,ये मॉनिटर crt और lcd मॉनिटर के मुकाबले बहुत कम बिजली खाता है,और साथ ही यह मॉनिटर लंबे समय तक टिकाऊ भी होता है,पर्यावरण पर भी अच्छा प्रभाव डालता है,LED मॉनिटर काफी महेंगे होते हैं,इसमें बैक लाइटनिंग के लिए ccfl की जगह पर LED का इस्तेमाल किया जाता है,और इसका फुल फॉर्म होता है Light Emitting Diode. इसके डिस्प्ले का रंग भी बाकी डिस्प्ले के मुकाबले अधिक साफ होता है,इसका वजन LCD से भी हल्का होता है और उनसे पतला भी होता है,इसकी एक खास बात ये भी है की अगर ये गिर जाता है तो इसमें अधिक नुकसान भी नही हो होता हम इसका इस्तेमाल तब भी कर सकते हैं,हाँ अगर काफी ज़ोर से गिर जाए तो इसमें लाइनिंग ज़रूर पड़ सकती है,लेकिन उसके बावजूद इसे आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

4- LCD Monitor: ये भी अच्छा मॉनिटर माना जाता है,जो की बाकि मॉनिटर से पतला होता है और बिजली भी कम खाता है, इस मॉनिटर की डिस्प्ले क्वालिटी बहुत बेहतरीन होती है,इस मॉनिटर को आप अपने घर की दिवार पे या ऑफिस वगैरह की दीवारों पे भी आसानी से टांग सकते हैं,क्यू की इनका वजन काफी कम होता है,और ये ज़्यादा जगह भी नही घेरते हैं,एलसीडी में शीशे की 2 परत होती है जो एक दूसरे से मैच नही होती लेकिन फिर भी दोनों आपस में चिपकी हुई होती है,इन्ही शीशे में से एक पर लिक्विड क्रिस्टल की परत होती है,और जब इसमें इलेक्ट्रिक आती है तो तो यही लिक्विड क्रिस्टल रोशनी को छोड़ने और रोकने का काम करते हैं,एलसीडी अपनी backlight की रोशनी के लिए फ्लोरोसेंट लैंप का उपयोग करती है।

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने जाना monitor kitne prakar ke hote hain आशा करता हूँ आपको अच्छे से समझ आ गया होगा की मॉनिटर कितने तरह के होते हैं पोस्ट पसन्द आयी हो तो अपने फेसबुक,व्हाट्सअप्प etc पर शेयर ज़रूर करें,और ऐसी ही जानकारी पाने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर डेली अप्डेट्स चेक करते रहें।

Rate this post

Leave a Comment