महिंद्रा शोरूम में जब पंहुचा एक किसान अपनी ड्रीम कर लेने तो सेल्समैन ने क्या कह दिया

 महिंद्रा शोरूम में जब पंहुचा एक किसान अपनी ड्रीम कर लेने तो सेल्समैन ने क्या कह दिया


महिंद्रा शोरूम में जब पंहुचा एक किसान अपनी ड्रीम कर लेने तो सेल्समैन ने क्या कह दिया

दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ जो कर्नाटक के तुमकुर की है जहाँ एक किसान अपने कुछ साथियों के साथ महिंद्रा के शोरूम में अपनी ड्रीम कार लेने के लिए पहुँच गया वो भी सादे कपड़ों में ही जब उसने सेल्समैन से उसे कार दिखाने को कहा तो सैल्समैन को लगा की ये भिखारी क्या खरीदेगा इतनी महंगी कार उसने सोचा की ये मेरे साथ टाइम पास कर रहा है तभी सेल्समैन ने उस किसान से कहा जेब में 10 रूपये भी न होंगे चले हो कार खरीदने जिससे उस किसान को सुन कर काफी तकलीफ हुई क्यू की सेल्समैन ने उसके कपड़े देख कर ही उसे जज कर लिया ये बात उस किसान को बहुत बुरी लगी।

तभी सैल्समैन ने कहा हिम्मत है तो आधे घण्टे के अंदर 10 लाख रूपये ला कर दिखा दो मुझे तो मैं इस कार को आज के आज ही तुम्हारे घर पर डिलीवर करा दूँगा।

 फिर क्या किसान तुरंत उस शोरूम से बाहर आ गया और थोड़ी ही देर में वापस से शोरूम आ गया और 10 लाख रुपए ला कर सेल्समैन के आगे पटक दिया और बोला लो 10 लाख रूपये और कार आज के आज ही इस कार को मेरे घर डिलीवर कराओ तो सेल्समैन काफी दंग रह गया क्यू की उसने सोचा ही नही था कि ये किसान के पास 10 लाख रूपये भी हो सकता है इसी ताव में उसने किसान को चैलेंज कर दिया था कि अगर आधे घण्टे में 10 लाख लाकर दिखा दो तो कर आज ही तुम्हारे घर पहुँच जायेगी लेकिन जैसे ही किसान ने पैसा देते हुए कहा कर आज ही घर पंहुचा दो।

जब दूल्हा 18 किलोमीटर पंहुचा साइकिल से शादी करने दुल्हन के घर

तो सेल्समैन ने कहा लेकिन ये पॉसिबल नही है कार तीन दिन के पहले नही मिल सकती फिर क्या इतना सुनते ही किसान भड़क गया और उसने काफी बहस कर डाली और अच्छा खासा बवाल खड़ा कर दिया।

तभी मौके पर पुलिस आ पहुँची उसने किसान को बहुत समझाया तभी किसान ने कहा मुझे अब चार चाहिए भी नही लेकिन सेल्समैन मुझसे और मेरे साथियों से अभी माफ़ी मांगे नही तो मैं यहाँ पर धरना प्रदर्शन करूँगा इसके बाद सेल्समैन ने जब माफ़ी नही मांगी तो उसने अपने और किसान साथियों को बुला लिया और जमकर हंगामा किया तभी पुलिस ने किसी तरह उन्हें समझा कर वापस भेजा लेकिन जाते समय किसान ने कहा मुझे कागज़ में लिखित माफ़ी चाहिए सोमवार तक क्यू की इसने मेरा और मेरे साथियों का अपमान किया है यदि इसने सोमवार तक लिखित माफ़ी नही मांगी तो मैं यहाँ पर फिर से प्रदर्शन करुँगा।

Leave a Comment